Home>>Uncategorized>>प्रधान व सिकेटरी पर ग्राम सड़क का पैसा गमन करने का आरोप
Uncategorized

प्रधान व सिकेटरी पर ग्राम सड़क का पैसा गमन करने का आरोप

फतेहपुर/नि.सं.
फतेहपुर जिले के मलवां ब्लाक क्षेत्र के मदोखीपुर गांव में ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी की मिलीभगत के चलते जहाँ एक और गांव विकास से कोसो दूर है वहीं शासन की योजनाओं का लाभ भी ग्रामीण जनता को नहीं मिल पर रहा है l ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी पर आरोप लगाते हुए बताया की गांव के एक प्रमुख मार्ग का निर्माण कार्य का पैसा तो करीब दो वर्ष पूर्व ही निकाल लिया गया, किन्तु करीब 30 मीटर मार्ग का निर्माण आज तक नहीं कराया गया है जिससे गांव के लोगो के साथ ही क्षेत्र के लोगो को आने-जाने में अत्यंत कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है l ग्रामीणों ने बताया की यह मार्ग सीधा उन्नाव एवं रायबरेली जिले को भी जोड़ता है l बताया की इस मार्ग से क्षेत्र के गोविंदपुर, दूधीकगार, मवइया, गुनीर, नूरपुर, भौनखेड़ा, जुगुतखेड़ा, शिवराजपुर व बसंतखेड़ा के लोगो का सबसे आवागमन होता है l ग्रामीणों ने बताया की इस मार्ग के निर्माण व प्रधान तथा सेक्रेटरी के भ्रष्टाचार की शिकायत कई बार खंड विकास अधिकारी, तहसील प्रशासन व जिले के अधिकारियो से की गयी, किन्तु आज तक किसी भी जिम्मेदार अधिकारी ने मामले पर गंभीरता नहीं दिखाई, जिसकी वजह से प्रधान व सेक्रेटरी से हौसले बुलंद है और धमकी देते हुए कहते है जहाँ शिकायत करनी हो कर दो कुछ नहीं होगा l उक्त मामले को लेकर जब ग्राम प्रधान विजय प्रकाश निषाद से बात की गयी तो उनका कहना रहा की ग्रामीण मार्ग के साथ नाली निर्माण की मांग कर रहे थे जिसकी वजह से काम रुक गया, वही उन्होंने बिना काम के पैसे निकलने के मामले में चुप्पी साध ली और बताया की केंद्रीय राज्यमंत्री से पुनः मार्ग निर्माण के लिये अनुरोध किया है l कोरोना महामारी की वजह से काम नहीं हो पाया बजट मिलते ही बनवा दिया जायेगा l उधर ग्राम पंचायत विकास अधिकारी नीलम सिंह से दूरभाष में बात की गयी तो उनका कहना रहा की ग्रामीणों की आपसी झगड़े की वजह से निर्माण नहीं हो सका, किन्तु वह भी पैसा निकाले जाने के प्रश्न पर चुप्पी साध गए l अब सवाल ये उठता है की जब करीब 30 मीटर मार्ग का निर्माण हुआ ही नहीं तो पैसा कैसे खाते से निकल गया और अगर पैसा निकला तो इस खेल में कौन-कौन शामिल है ये बड़ा विषय है, जिसका जिला प्रसाशन को स्वयं संज्ञान लेना होगा, अन्यथा इसी तरह गड़बड़ झाला होता रहेगा और जिले के अधिकारी मूकदर्शक बनकर तमाशा देखते रहेंगे और ग्रामीणों का हक़ भ्रष्टाचार की भेट चढ़ता रहेगा l शिकायत कर्ता ओमप्रकाश गुप्ता, विनोद टेलर, राजकुमार पासवान, स्वदेश कुशवाहा, जगजीवन पासवान, रामस्वरूप पासवान, शुभम बाजपेई, बदलू पासवान, संकठा पासवान, भोला निषाद, दिनेश, कल्लू, देवीदयाल, महिलाओ में जगदेईया, रामरती, सन्नो आदि मौजूद रही l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: https://www.aapkikhabre.in/