Home>>Uncategorized>>प्रदेश सरकार के खिलाफ सपा ने हल्ला बोला,पुलिस के छूटे पसीने
Uncategorized

प्रदेश सरकार के खिलाफ सपा ने हल्ला बोला,पुलिस के छूटे पसीने

फतेहपुर/नि.सं.
प्रदेश की भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व के आहवान पर जिले के सपाईयों ने हल्ला बोल किया। सपाईयों को नियंत्रित करने के लिए जिले की पुलिस के पसीने छूट गये। इसके बावजूद सपाई नहीं माने और सड़क पर प्रदर्शन करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों के माध्यम से प्रदेश के राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर किसान, बेरोजगार, सपाईयों के उत्पीड़न, ध्वस्त कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार एवं घोटालों से अवगत कराते हुए सत्रह सूत्रीय मांगों को पूरा किये जाने की आवाज बुलन्द की। बिन्दकी व खागा तहसील क्षेत्र में भी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ हुंकार भरी। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत जनपद की तीनों तहसीलों सदर, बिन्दकी व खागा में समाजवादी पार्टी का हल्ला बोल कार्यक्रम हुआ। सदर तहसील क्षेत्र के अन्तर्गत शादीपुर स्थित पार्टी कार्यालय में बड़ी संख्या में सपाई एकत्रित हुए। जहां से जिलाध्यक्ष विपिन सिंह यादव के नेतृत्व में सपाईयों का जत्था हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां, बैनर व पोस्टर लेकर सड़क पर निकले और योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। शादीपुर चैराहे पर सपाईयों को रोकने के लिए अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने कमान संभाली। चैराहे पर पुलिस द्वारा बैरीकेटिंग की गयी थी। सपाईयों का हुजूम जैसे ही शादीपुर चैराहे पर पहुंचा तो पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। एएसपी ने सपा नेताओं से कहा कि आगे न जायें। यहीं पर ज्ञापन दे दें। इसके बावजूद सपाई नहीं माने और एएसपी के साथ धक्का-मुक्की करते हुए पटेलनगर चौराहे पहुंच गये। जहां दोबारा सपाईयों का सामना पुलिस से हुआ। छावनी बने पटेलनगर चौडगरा पर सपाईयों को रूकना पड़ा और राज्यपाल को सम्बोधित सत्रह सूत्रीय मांगों का ज्ञापन अपर जिलाधिकारी पप्पू गुप्ता को सौंपकर सभी मांगे पूरी करने का आवाहन किया गया। सपाईयों का कहना रहा कि योगी सरकार की गलत नीतियों के चलते कोरोना संकट बढ़ा है। प्रदेश का किसान, नौजवान, बुनकर व समाज के दूसरे कमजोर वर्गों की उपेक्षा की जा रही है। प्रदेश की कानून व्यवस्था धड़ाम हो गयी है। प्रतिदिन लूट, हत्या, बलात्कार, चोरी की घटनाएं हो रही हैं। जिनका खुलासा कर पाने में पुलिस नाकाम है। इतना ही नहीं प्रदेश में सपा कार्यकर्ताओं पर फर्जी मुकदमें दर्ज कराये जा रहे हैं। सरकार का भ्रष्टाचार व घोटालों पर कोई नियंत्रण नहीं है। आज प्रदेश में महिलाएं व बच्चियां भी सुरक्षित नहीं रह गयी हैं। इस सरकार को अब सत्ता में रहने का कोई हक नहीं है। सपाईयों ने कहा कि प्रदेश सरकार के खिलाफ लगातार विरोध जारी रहेगा। इस मौके पर आबिद हसन, सुरेन्द्र सिंह यादव, हाजी रजा, चन्द्र प्रकाश लोधी, राम बहादुर यादव, ठा0 सतीश राज सिंह, मोईन खां, अरूणेश पाण्डेय, रीता प्रजापति, नफीस उद्दीन, चैधरी मंजर यार, नगर अध्यक्ष मो0 साबिर एडवोकेट, जेपी यादव, मो0 आजम खान, सऊद अहमद, दिलीप सिंह यादव, राजन तिवारी, उदय सिंह, जियाउद्दीन राजू, मो0 रहीम राईन कादरी, उदय प्रताप सिंह, तनवीर हुसैन, प्रतियोग प्रताप सिंह उर्फ बेटू, अभय सिंह, उदय सिंह, रवीन्द्र यादव, जंग बहादुर सिंह मखलू, अंसार कुरैशी, मो0 यासीन वारसी, नफीस सिद्दीकी, मो0 आसिफ ललऊ, मो0 इरशाद, फैजान अहमद मून, तरन्नुम परवीन, मो0 आजाद, मो0 शाही रजा, अशोक यादव, अशोक कुमार आदि तमाम सपाई मौजूद रहे। खागा तहसील क्षेत्र के अन्तर्गत नगर अध्यक्ष कलीम शेख व लोहिया वाहिनी के जिला उपाध्यक्ष प्रेम नारायण विश्वकर्मा की अगुवाई में एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। सपाइयों ने ज्ञापन सौंपने के पहले जज साहब हाता मे एकजुट होकर ताकत का एहसास कराया। जहां योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहां से सपाइयों का हुजूम निकलकर नारेबाजी करते हुए तहसील गेट के सामने पहुंचा। एसडीएम ने सपाइयों का ज्ञापन लिया। इस मौके पर चैधरी राजेश यादव, प्रकाश यादव, नितिन यादव, मोहम्मद सलमान, केतकी यादव, पूर्व विधायक मोहम्मद सफीर, ओम चंद्र मिश्रा, अखिलेश मौर्य, विनोद पासवान, मतीन अहमद, मोहम्मद इस्माइल, अखंड प्रताप सिंह, रावेन्द्र प्रताप सिंह यादव, अंशू यादव, नागेंद्र यादव, यासिर सफीर, फरमानुल हक सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: https://www.aapkikhabre.in/